Breaking News

16 हाथियों के दल ने एक ग्रामीणों को पटक कर उतारा मौत के घाट

जरही-उदित ठाकुर-छत्तीसगढ़ समाचार (सच्ची खबर-पुख्ता खबर) जिला सूरजपुर के जरही की खबर।

जिले के सूरजपुर के  वन परिक्षेत्र के अलग-अलग जंगलों में विचरण कर रहा हाथियों के दल ने बुंदिया में एक ग्रामीणों को पटक पटक कर मौत के घाट उतार दिया , घटना देर रात मंगलवार को समय 7बजे की बताई जा रही है , जहां करीब 16 की संख्या में हाथियों का दल विचरण कर रहा था , इसी बीच कुछ ग्रामीण जानकारी के अभाव से ग्राम पोड़ी से सादी से लोट रहे थे ,जहां 16 सदस्यीय हाथियों का दल दौडा कर एक ग्रामीणों को अपने चपेट में लेकर पटक पटक कर मौत के घाट उतार दिया, इस हादसे के बाद से क्षेत्र में फिर एक बार हाथियों को लेकर दहशत का महौल है , जानकारी के मुताबिक धरमपुर निवासी  रमुन्दर राजवाड़े पिता किसनाथ रजवार 52 वर्ष

 बीच विचरण कर रहे हाथियों ने दौडा कर एक को अपने चपेट में ले लिया  सूचना के बाद सुबह घटना स्थल पहुंच वन विभाग की टीम पंचनामा तैयार कर तत्कालिक सहायता राशि 25 हजार रूपये मृतकों के परिजनों को दी ,

लाकडाउन में एक ओर जहां सभी लोग अपने-अपने घरों में संक्रमण के डर से दुपककर बैठे हैं तो वहीं दूसरी ओर जंगल के पशु -पक्षी स्वच्छंद विचरण कर रहे हैं। कहीं सड़क पर मोर नाच रही है तो कहीं पर भालू देखने को मिल रहा है। लाकडाउन के इस दौर में सभी पशु -पक्षी जंगलों से शहर व गांव की ओर पलायन कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला आज भटगांव थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत बुंदिया में देखने को मिला। आज देर शाम अचानक बुंदिया के जंगलों से निकलकर 16 हाथियों का दल गांव में आ धमका और एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया। घटना के संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत बुंदिया निवासी रमुन्दर राजवाड़े पिता किसनाथ रजवार 52 वर्ष पोड़ी सादी समारोह से लौट के  आ रहा था उसी दौरान हाथियों ने दावा बोल दिया और कुचलकर मौत के घाट उतार दिया। सूरजपुर वनमंडल क्षेत्र के सोनगरा, बंशीपुर, बुंदिया, बगड़ा, केरता, पलढ़ा हाथी प्रभावित क्षेत्र है तथा आये दिन इन क्षेत्रों में हाथियों के आतंक का कहर जारी रहता है। हाथियों के आतंक से पूरे क्षेेत्रवासी परेशान हैं तथा हमेशा शासन-प्रशासन से हाथियों से निजात दिलाने की मांग करते आ रहे हैं। वन विभाग के लाख कोशिशों के बावजूद भी हाथियों के आतंक पर अंकश नहीं लग पा रहा है।

सेटेलाईट कालरिंग हुई फेल

वन विभाग चाहे लाख दावे क्यों न करे की हम हाथियों पर नजर बनाये हुए हैं तथा ट्रैंक्यूलाईज कर रहे है, मगर इस ओर विभाग का सारा दावा बेअसर साबित हो रहा है। यहां तक की विभाग द्वारा हाथियों के लोकेशन का भी पता नहीं लगाया जा रहा है, अगर लोकेशन का पता चल पता तो ग्रामीणों को सचेत कर दिया जाता कि आप सभी सतर्क रहें।

 

नहीं मिलता है हाथियों के आने की सूचना

वहीं ग्रामीणों ने वन विभाग के बड़े अधिकारियों को जमकर फटकार लगाते नजर आए , ग्रामीणो का आरोप है की बीट में पदस्थ बीट प्रभारी के द्वारा ग्रामीणो को सूचना नही दी जाती हैं , जिसका  खामियाजा ग्रामीणों को अपना जान गवा कर भुगतना पड़ रहा है, वहीं ग्रामीणों ने डुमरिया बीट प्रभारी पर आरोप लगाते हुए डुमरिया बीट में पदस्थ प्रभारी अपने घर में रहकर डियूटी कर रहे है , इस वजह से ग्रामीणों को सूचना नही मिल पा रही है

Check Also

इंटक कांग्रेस पोस्टकार्ड अभियान बीसवें दिन आमजनों ग्रामीणों ने राष्ट्रपति को लिखा चिट्टी – इंटक कांग्रेस छः ग

🔊 Listen to this इंटक कांग्रेस पोस्टकार्ड अभियान बीसवें दिन आमजनों ग्रामीणों ने राष्ट्रपति को …